ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
सफलता शॉर्ट कट से नहीं मेहनत से प्राप्त की जाती है : मनोरमा रायकवार
September 15, 2020 • Atul Kumar

कहते है मन में कुछ करने का हौसला और जज्बा हो तो कुछ भी हासिल किया जा सकता है और इंदौर मध्यप्रदेश की मनोरमा रायकवार इसका जीता जागता उदाहरण है। मनोरमा ने मिसेज इंडिया 2019 का खिताब आपने नाम किया जो एक साधारण सी हाउस वाइफ के साथ ही एक बियुटी आर्टिस्ट भी है।

प्रतियोगिता डेजल मिस एंड मिसेज इंडिया वर्ल्ड 2019 जो कि राजस्थान के पुष्कर जी में नवंबर 2019 में हुआ था। जिसे सुबोध जैन एवं तबस्सुम हक ने आयोजित करवाया था। जिसमें 20 राज्यो की 24 प्रतिभागियों ने भाग लिया था। जिसमें मनोरमा रायकवार ने प्रथम स्थान हासिल करा ।

मनोरमा का जन्म एक साधारण से परिवार में हुआ जहां उन्हें अपने परिवार में बड़े होने के कारण कई जिम्मेदारियों को निभाते हुए आपने सपनों की बलि चढ़ा दी और 2009 में मनोरमा की शादी हो गई।

फिर उन्हें लगा कि मायके से शुरू किया सफर ससुराल में आ कर खतम हो गया। इसी बीच दो बेटों की और परिवार की जिम्मेदारियों को संभालते हुए आपनी एक नई पहचान बियूटी आर्टिस्ट के रूप में बनाई और कई सालों तक कड़ी मेहनत करी।

 
2019 में मिसेज इंडिया ब्यूटी पाजेंट के बारे में पता चला। यह बियुटि पजेंट उनके लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। ससुराल में एक मिडिल क्लास संयुक्त परिवार में रहते हुए यह इस प्रतियोगिता में भाग ले पाना बगैर समझदार जीवन साथी के अधूरा था। अपने जीवन साथी का पूर्ण साथ होने के कारण उन्होंने इस प्रतियोगिता मै भाग लिया।

तब मनोरमा रायकवार ने आपने सपनों को एक नई उड़ान दी। जिन सपनों को वो टूटा हुआ समझ रही थी वो 2019 में पूरा हुआ। जहा उन्होंने हर हुनर को दशार्या। चाहे वह सुंदरता का हो या नृत्य का हो। तब उन्हें लगा कि सपनों कोई उम्र नहीं होती। जिसका परिणाम मनोरमा ने मिसेज इंडिया वर्ल्ड 2019 में सफलता प्राप्त करके दिखाया। मनोरमा रायकवार का कहना है कि सफलता शॉर्ट कट से नहीं मेहनत और ईमानदारी से प्राप्त की जाती है।