ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
सपने ही आपको जीवन में आगे ले जाते हैं : लविना जोसफ
January 7, 2020 • Gaurav Jain • BEAUTY

 

कहते हैं जब जागे तभी सवेरा और जहां से भी आप शुरूआत करना चाहो आप शुरूआत कर सकते हो, चाहे वे सपने कैसे भी हो या कितने बड़े हो, दृढ निश्चय करना ही उस सफर की पहली जीत है, जिसने पहली जीत हासिल कर ली उसके लिए अपना सपना और मुकाम हासिल करना कोई दूर की कौड़ी नहीं रह जाती। अपने जीवन को सार्थक मानकर दोबारा मिली जिंदगी से पुन: शुरू करने वाली लविना जोसफ की आज भी अपने पाठकों से मुलाकात करायेंगे जिनसे एक कार्यक्रम के दौरान आपकी सेहत पत्रिका के उपसंपादक गौरव जैन से बातचीत हुई, प्रस्तुत हैं बातचीत के कुछ प्रमुख अंश :-


लविना जी आपने अपने कैरियर की शुरूआत कहां से की?
सबसे पहले मैंने एक मॉडल स्कूल में छोटे बच्चों को बढ़ाया व खुद भी ट्रेनिंग क्लास की लियी जाती थी। वर्तमान में मैं मॉडलिंग के साथ-साथ सोशल वर्क भी करती हूँ जोकि एजूकेशन और मेडिकल से सम्बद्ध है।


लविना जी आपकी प्राथमिक शिक्षा कहां से हुई और आपने कब अपने जीवन का लक्ष्य तय किया?
मेरी प्राथमिक शिक्षा नागपुर के प्रोविडेंट गर्ल्स हॉस्टल में रह कर हुई है। वैसे तो मैं हमेशा सीखना व आगे रहना यह मेरी कोशिश रही कि जीवन का लक्ष्य मैंने उस मोड़ पर तय किया कि जब मैं बहुत बीमार पढ़ गयी थी या समझो  दूसरा जन्म हुआ था उस समय कुछ सपने देखे या देखा तो चाहे कोई साथ दे या ना दे अपनी इच्छा पूरा करके ही दम लूंगी। अपने अंदरूनी इच्छाओं को पूरा करना इंसान के ही हाथ में होता है , मैंने निश्चय किया कि जीवन जीना है तो अपनी पहचान बनाकर जीना है वर्ना ईश्वर की मर्जी।

 

 


लविना जी आज आप जिस भी मुकाम पर हैं उसने पाने के लिए आपने क्या किया और उसमें मुख्य भूमिका किसकी रही?
वैसे तो अभी मेरा कोई भी मुकाम नहीं है हाल ही में मैंने इस तरफ ध्यान देना शुरू किया है अपने टैलेंट को उभारने के लिए डांस, योगा, मेडिटेशन कई प्रकार से कड़ी मेहनत कर रही हूँ साथ ही अपने डाइट को कंट्रोल किया।  मेरे सपने और मेरी इच्छाओं को पूरा करने में मेरे माता बाबरा टाइटस, पिता विनसन टाइटस दोनों का साथ और आशीर्वाद हमेशा ही रहा, और मेरे बेटे सनी ने मुझे प्रेरित करते हुए कहा कि - मोम यू केन डू पोजिटिव एनर्जी। साथ ही जरूरत के समय वह मेरा सभी कार्यों में हाथ बटाता है, मेरी बहन विक्टोरिया और सहयोगी अश्वनी ने भी योगदान है वे भी समय पर मेरा सहयोग करती रहती थीं।


लविना जी आज लोग आपको जानने लगे हैं, यह देखकर आपको कैसा महसूस होता है?
वैसे सपने और ऊंचाईयां तो बहुत हैं मेरी मगर आज भी जहां भी हूँ जैसी भी हूँ अपने आप पर गर्व महसूस करती हूँ, अपने माता-पिता पर भी फर्क होता है कि वो हमेशा साथ रहे, हमेशा प्रेरित करते हैं, बहुत ही खुशी महसूस करती हूँ।


लविना जी आपने आज तक अपने जीवन में जो तय किया और उसको पाने के लिए आपने दिन रात मेहनत की क्या अभी वह सपना अधूरा है?
अभी तक जो भी सपना देखा उसे हासिल किया, चाहे उसके लिए मुझे कितना ही कठिन परिश्रम करना पड़ा उसे हासिल किया। जीवन के यहां तक के सफर में अभी तो कोई भी सपना अधूरा नहीं है, लेकिन सपने खत्म नहीं होने चाहिये क्योंकि जिंदगी को आगे बढ़ने में इन्हीं से मदद मिलती है, एक सपना पूरा हो तो दूसरा सपना देखना तुंरत चालू कर देना चाहिये, ये सपने ही आपको जीवन में आगे ले जाते हैं। 

 

 


लविना जी आपको आपके परिवार से सबसे ज्यादा सपोर्ट और सहयोग किनसे मिला?
मेरे जीवन में सबसे ज्यादा सपोर्ट मेरे बेटे का रहा जिसने छोटी से ही उम्र में मेरी मदद करना शुरू कर दिया और साथ ही कभी मुझे निराशा ने घेरा तो मेरा मोटिवेटर बनकर मुझे प्रेरित भी किया। 


आपको अभी तक कौन-कौन से सम्मानों से सम्मानित किया जा चुका है?
जिंदगी तो अभी शुरूआत ही हुई है और फिर भी यदि सम्मानों की बात करें तो मुझे - 2019 में भारत की पहली मल्लिका-ए-ताज विनर, वर्ल्ड पीएचडी ग्रीन एम्बेसडर, मिसेस इंडिया यूनिवर्स क्लासिक, फैशन आईकोन, मिसेज इंडिया दिवा, डांसिंग क्वीन, ओपेरा मिसेज इंडिया ग्लोबल जैसे नामी अवॉर्डों से मुझे सम्मानित किया जा चुका है और मदर बुगी-वुगी से भी सम्मान मिल चुका है,  डोक्यूमेंट्री फिल्म भी की है, सैलीब्रिटी गेस्ट एण्ड ज्यूरी मेम्बर रही हूँ, और आजकल तो मुझे कार्यक्रमों में चीफ गेस्ट बतौर आमंत्रित भी किया जाने लगा है। 


लविना जी आपके जीवन के रोल मॉडल कौन है तथा आप किस फिल्म स्टार की तरह बनना चाहती हैं?
मेरे जीवन की रोल मॉडल मदर टेरेसा हैं। अमिताभ बच्चन और माधुरी दीक्षित से हमेशा मैं प्रेरित रही हूँ और उनसे मिलने की इच्छा भी है। अमिताभ बच्चन जैसा आत्मविश्वास और माधुरी दीक्षित जैसा अंदाज किसी ओर में नहीं है, मैं इनके जैसा बनना और एक्टिंग करना चाहती हूँ।


लविना जी अभी तक आपने जितनी भी कार्य किए हैं उनमें से आपके लिए सबसे बेस्ट और सबसे अच्छा कार्य और अनुभव कौन सा रहा?
अभी तक मैंने जितने भी कार्य किये हैं उनमें से मेरे लिये सबसे बेस्ट और सबसे अच्छा कार्य और अनुभव छोटे बच्चों को पढ़ाना और बड़े बुजुर्गों के पास बैठकर उनसे उनके जीवन की बहुमूल्यों बातों को सुनना अच्छा लगा।


लविना जी आप आने वाली पीढ़ी को कोई ऐसा संदेश देना चाहेंगी जिनसे वह प्रेरित हो सके।
मैं आने वाली पीढ़ी को यह संदेश देना चाहूंगी कि जीवन को खुलकर जियो, प्रकृति पर ध्यान दो, उसे नष्ट होने से बचाओ व हर काम मेहनत और लग्न से करें, जीवन में सफलता जरूर मिलेगी।