ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
जीवन एक निरंतर प्रयास का दूसरा नाम है : डॉक्टर दीपिका जैन
June 30, 2020 • गौरव जैन (अक्षत)

दीपिका जी आपने अपने कैरियर की शुरूआत कहां से की?
मैंने अपने करियर की शुरूआत बतौर फिजीशियन कई प्रसिद्ध डॉक्टर के साथ काम   करके की है, उनके साथ मैंने बहुत काम सीखा, अनुभव लेने के बाद गुड़गांव में खुद का मल्टीस्पेशलिटी क्लिनिक 2005 में खोला 15 साल प्रैक्टिस करने के बाद मैंने बतौर सीनियर स्पेशलिस्ट लाइसेंसिंग एंड रेगुलेटरी डिपार्टमेंट में मिनिस्ट्री आॅफ हेल्थ दुबई, यूनाइटेड अरब एमिरेट्स में मेरी नियुक्ति हुई, जहां मैंने बहुत नाम कमाया’ हिंदुस्तान आने के बाद मैंने कई ब्यूटी पेजेंट्स जीते फिर अपनी एक इंटरनेशनल इवेंट कंपनी स्थापित की जिसका नाम - 'मेघा कॉसमॉस' है और कारवां अभी जारी है।


दीपिका जी आपकी शिक्षा कहां से हुई और आपने कब जीवन का लक्ष्य तय किया?
मैंने अपनी प्राथमिक शिक्षा सेंट जेवियर सीनियर सेकेंडरी स्कूल से की है’ और मैंने अपने जीवन का लक्ष्य कि मुझे डॉक्टर बनना है यह मैंने नाइंथ स्टैंडर्ड में ही तय कर लिया था।


दीपिका जी आपकी सफलता और आज आप जिस मुकाम पर हैं उसने पाने के लिए आपने क्या किया और उसमें मुख्य भूमिका किसकी रही?
सपने वह नहीं होते जिन्हें हम सोते समय देखते हैं सपने वह होते हैं जो हमें सोने नहीं देते हैं’ मैंने अपने सपनों को पूरा करने के लिए बहुत मेहनत की है और आगे बढ़ रही हूं’ जीवन में और बहुत कुछ हासिल करना है’ मेरे नजरिए में जीवन एक निरंतर प्रयास का दूसरा नाम है ’
दीपिका जी आज आप जिस मुकाम पर हैं और आज लोग आपको जानते हैं यह देख कर आपको कैसा महसूस होता है?
मेरी सफलता और जिस मुकाम पर मैं आज हूं उसे पाने के लिए मैंने कड़ी  परिश्रम और कई चुनौतियों का सामना किया’ मेरी सफलता के पीछे कई लोगों का  साथ है पर मुख्य भूमिका मेरे पिताजी की है जिन्होंने मुझे एक ही बात समझाई कि कड़ी परिश्रम का कोई और दूसरा सब्सीट्यूट नहीं होता’


दीपिका जी आपने आज तक अपने जीवन में जो तय किया और उसको पाने के लिए आपने दिन रात मेहनत की क्या अभी वह सपना अधूरा है?
लोगों का प्यार और आदर देखकर मुझे बहुत अच्छा महसूस होता है’ दूसरों के लिए एक प्रेरणा बनना रोल मॉडल बनना यह अपने आप में ही बहुत बड़ी बात होती  है ’ जब लोग मेरी तारीफ करते हैं या मेरी कॉपी करते हैं या मेरे जैसा बनना चाहते हैं यह सब देख कर मुझे बहुत खुशी महसूस होती है समाज में एक पॉजिटिव मैसेज देना एक नेशन बिल्डिंग की तरफ जाना है यह सब देख कर मुझे बहुत अच्छा और गर्व महसूस होता है।


दीपिका जी सबसे ज्यादा सपोर्ट और सहयोग किनसे मिला?
मुझे मेरे परिवार में सबसे ज्यादा सपोर्ट मेरे पिताजी और शादी के बाद मेरे हस्बैंड से मिला’


दीपिका जी आपको कौन-कौन से सम्मानों से सम्मानित किया जा चुका है?
ईश्वर की असीम कृपा मेरे ऊपर शुरू से ही रही है मेडिकल और फैशन इंडस्ट्री में वैसे तो मुझे कई अवॉर्ड्स से सम्मानित किया जा चुका है उनमें से कुछ इस प्रकार है ट्रेंडसेटर दीवा इन हेल्थ इंडस्ट्री, बेस्ट एंप्लॉय इन मिनिस्ट्री आॅफ हेल्थ दुबई, मिसेज दिल्ली ग्लोबल, मैसेज इंडिया इंटरनेशनल, आॅनर्स एंड डिस्टिंक्शन इन बैचलर आॅफ होम्योपैथी एंड मेडिकल सर्जरी, डिस्टिंक्शन इन कॉग्निटिव बिहेवियर थेरेपी, वर्ल्ड एक्सीलेंस अवॉर्ड, इंडियन लेजेंड्स अवार्ड, बिजनेस एक्सीलेंस अवार्ड, गोल्ड मेडलिस्ट  200 एंड 400 मीटर रेस डिस्ट्रिक्ट लेवल ,स्कॉलरशिप फॉर हायर एजुकेशन इन आॅस्ट्रेलिया’ ऐसे कई अवार्ड है जो गिनती में है पर मेरे लिए जो सबसे अनमोल और जो मेरे दिल के करीब पुरस्कार या सम्मान आप कहें वह है जो लोगों का प्यार और आदर मेरे लिए है मेरे लिए सबसे बड़ी सम्मान की बात वही है।’

 


दीपिका जी आपके जीवन के रोल मॉडल कौन है तथा आप किस फिल्म स्टार की तरह बनना चाहती हैं?
मेरे जीवन के रोल मॉडल मेरे पिताजी रहे हैं’ उनसे मैंने परिश्रम, इमानदारी और डिटरमिनेशन जैसे गुणों को सीखा है’ मैं यह मानती हूं कि हर इंसान की अपनी परिस्थितियां होती है और सबके संघर्ष अलग होते हैं’ हम किसी को प्रेरणा का स्त्रोत या इंस्पिरेशन तो मान सकते हैं पर हमें अपने अस्तित्व को बनाना चाहिए’ अपनी आईडेंटिटी क्रिएट करनी चाहिए ना की किसी और की तरह बनने में अपनी इंपॉर्टेंट को खोना चाहिए’।


दीपिका जी अभी तक आपने जितनी भी कार्य किए हैं उनमें से आपके लिए सबसे बेस्ट और सबसे अच्छा कार्य और अनुभव कौन सा रहा?
सबसे अच्छा कार्य मैंने अपने जीवन में वह किया जिसमें मुझे अंदरूनी संतुष्टि का अनुभव हुआ’ वह कार्य था एक गरीब की लड़की की लाइफ लोंग एजुकेशन का उत्तरदायित्व उठाना इस कार्य से मुझे फुल सेटिस्फेक्शन और सनातन  खुशी का अनुभव हुआ।


दीपिका जी आप आने वाली पीढ़ी को कोई ऐसा संदेश देना चाहेंगी जिनसे वह प्रेरित हो सके।
आने वाली युवा पीढ़ी को मैं यह कहना चाहूंगी कि वह अपनी जिंदगी में कोई लक्ष्य जरूर रखें और उस लक्ष्य को पूरा करने के लिए सही फोकस रखें’ जरूरी यह है कि आने वाली पीढ़ी जिंदगी का मकसद समझे उन्हें ज्ञात होना चाहिए कि उन पर समाज एवं देश की तरक्की की जिम्मेदारी है साथ ही वह इस बात का भी ध्यान रखें कि जिंदगी बहुत ही खूबसूरत उपहार है इससे और  ज्यादा महत्वपूर्ण और वैल्युएबल बनाएं।