ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हैं - मोमोज
December 14, 2018 • PRAVEEN SHARMA

स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हैं - मोमोज

सर्दियों के दिनों में मैदा और सब्जियों की स्टफिंग से तैयार मोमोज के शौकीन लोगों का स्वाद तब और परवान चढ़ता है जब उसे लाल चटनी के साथ खाया जाता है। दरअसल क्या बच्चे, बड़े और महिलाएं सभी के अक्सर मोमोज का नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लगता है और वे इसे पाते ही बड़े चाव से खाने लगते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि यह मोमोज हमारी सेहत पर काफी भारी पड़ सकते हंै। इसको खाने से शरीर को एक नहीं बल्कि कई गंभीर नुकसान भुगतने पड़ सकते हैं। यूं तो दिल्ली में ठेलों पर जगह -जगह मिलने वाला मोमोज काफी पोपुलर स्ट्रीट फूड है लेकिन हाल ही में एक रिसर्च में मोमोज के बारे में चैंकाने वाला खुलासा हुआ है। रिसर्च में चैंका देने वाली एक बात यह सार्वजनिक हुई है कि स्ट्रीट फूड में मोमोज सबसे ज्यादा नुकसानदेह होते हैं और साथ ही दूसरे फूड्स के मुकाबले कहीं ज्यादा अनहाईजीनिक होते हैं। क्योंकि इन्हें बनाने के लिए कई तरह केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है।

कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार मोमोज खाने से इतने भयंकर नुकसान होते हंै कि जिन्हंे जानकर आपकी आंखंे फटी की फटी रह जाएंगी।उनके मुताबिक, बड़े चाव के साथ मोमोज के संग मिलने वाली लाल तीखी चटनी खाने वाले व्यक्ति को यह जल्दी ही बीमार कर देती है। ऐसा इसलिए क्योंकि मोमोज में जरूरत से ज्यादा फीकल मैटर पाया जाता है यानी कि खाने के माध्यम से शरीर में अनहाईजीनिक तरीके से जाने वाली गंदगी जो एक अच्छे-खासे स्वस्थ इंसान को कई तरह की बीमारियां सौगात में देती है।

आप जो घर में मोमोज बनाते हैं वे भी बाजार वालों की तुलना में पीले या फिर आफ व्हाइट रंग के दिखते हैं।वह भी ऐसा इसलिए होता है कि मैदा में फाइबर नहीं होता। सफेद और चमकदार बनाने के लिए इसे बेंजोइल परआक्साइड से ब्लीच किया जाता है जो हमारे बेशकीमती शरीर हेतु बहुत ही नुकसानदेह साबित होता है।

मोमोज खाने से सेहत को होने वाली गंभीर बीमारियांः-

हड्डियां कमजोर बनाएंः-
रोजाना चटपटे स्ट्रीट फूड  मोमोज खाने से शरीर की हड्डियां धीरे- धीरे कमजोर होती हंै क्योंकि मोमोज को जब भाप दी जाती है तो उससे मैदें का सारा प्रोटीन निकल जाता है और यह एसिडिक बन जाता है। परिणामस्वरूप ,हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। अतः मोमोज खाने के शौकीन अब सावधान हो जाएं !

शुगर बढ़ाएं:-
इस बारे में आहार विशेषज्ञ कहते हैं कि अधिक मोमोज खाने से डायबिटीज होने का खतरा अधिक मंडराने लगता है क्योंकि मैदा में ग्लाइसीमिक इंडेक्स हाई होता है, जोकि अक्सर शरीर में शुगर की मात्रा को बढ़ा देता है।

निर्बल करे शरीर:-
जो लोग रोजमर्रा मोमोज या मैदे निर्मित चीजें खाने के आदी हो जाते हैं उनकी इम्यूनिटी पावर धीरे-धीरे कमजोर पड़ने लगती है। फलस्वरूप , वे हमेशा बीमार रहने लगते हैं और खुद को सदैव निर्बल और थका हुआ महसूस करते हैं।

कब्ज व गैस बढ़ाएं:-
डाक्टरों के अनुसार, मैदे में फाइबर न होने के कारण इसे अधिकाधिक खाने से कब्ज हो जाता है। साथ ही सिर दर्द और गैस जैसी कई समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। इसकी चटनी इतनी ज्यादा तीखी होती है कि इससे पाइल्स यानी बवासीर की बीमारी हो सकती है। इस तरह  स्ट्रीट फूड में मोमोज व्यक्ति को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाने वाले होते हैं।

दिल करें बीमारः-
अगर आप बहुत ज्यादा मोमोज या मैदा से बनी डिशेज खाने के शौकीन हैं तो अब जरा इस शौक पर विराम लगाते हुए संभल जाइए। जी हां,यह आपको दिल से संबंधित बीमारियां होने की सौगात देती है क्योंकि इस तरह के फूड को खाने से खून में ग्लूकोज जमने लगता है और आपका दिल खतरे में पड़ सकता है।इसलिए अब आप अगली बार किसी ठेले वाले से मोमोज खाने की गलती न करें।

इतना ही नहीं, तले हुए स्ट्रीट फूड खाने से भी आपको पेट में ऐंठन, टाइफाइड, उल्टी, दस्त, एसिडिटी, डिसेंट्री जैसी अनेकों बीमारियां हो सकती हैं क्योंकि ऐसे खाने कुछ देर के पश्चात ही खराब हो जाते हैं और रोड पर मिलने वाले ये खाने कभी भी हमेशा ताजे नहीं होते। सो,बेहतर होगा कि आप सभी स्ट्रीट फूड खाने से जहां तक हो सके, बचें और यदि कभी खाने का मन हुआ तो ठेले वाले की बजाय किसी साफ-सुथरी जगह पर जाकर कम मात्रा में खाएं और खाने के तुरंत बाद गुनगुना पानी अवश्य पी लें निस्संदेह इस तरह करना आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होगा।