ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
सेहत के दुश्मन हैं लजीज भोज्य पदार्थ
December 14, 2018 • Tarun Kumar Nimesh

सेहत के दुश्मन हैं लजीज भोज्य पदार्थ

जंक फूड खाने में स्वादिष्ट, बनाने में आसान और कम समय में तैयार होने वाला भोजन है। यह लजीज भोजन सब उम्र के लोगों की पसंद बन गया है। स्वाद में तो लाजवाब लगता ही है पर इसके सेवन से नुकसान इतने हैं कि स्वास्थ्य बिगड़ते देर नहीं लगती।

जंक फूड कार्बोहाइडेªट्स से भरा होता है पर न्यूट्रीशन रहित होता है जो कई बीमारियों को आमंत्रित करता है जैसे हाई बी पी, दिल की बीमारी, मोटापा और कोलेस्ट्राॅल की अधिकता आदि । जंक फूड खाने को मन तो खूब करता है पर खाते समय ध्यान दें उसके अवगुणों की ओर।

अंडे की भुर्जी:-
अंडे की भुर्जी का स्वाद परांठे और ब्रेड के साथ बहुत अच्छा लगता है। अंडे का सफेद भाग तो प्रोटीन से भरपूर होता है पर पीला भाग (योक) फैट से भरपूर होता है। इसलिए इसका मजा तो लें पर कम मात्रा में। हो सके तो अंडे का वाइट पार्ट ही प्रयोग करें। येलो पार्ट को फेंक दें या बहुत कम मात्रा में प्रयोग करें।

चिप्स और वेफर्स:-
चिप्स, वेफर्स अधिकतर आलू से या अन्य स्टार्ची खाद्य पदार्थों से तैयार किए जाते हैं। तले और नमक वाले होने के कारण ब्लड प्रेशर को बढ़ाते हैं।

फ्रेंच फाइज:-
आलू वैसे तो उबला हुआ खाना चाहिए पर फ्राइड आलू विद मोर साल्ट सेहत के दुश्मन हैं। इससे ब्लड प्रेशर और मोटापा दोनों बढ़ते हैं।

मीट:-
मीट वैसे तो प्रोटीनयुक्त खाद्य पदार्थ है पर इसमें आयरन की मात्रा कम होने के कारण सेहत का दुश्मन है।

पास्ता और पिज्जा:-
पास्ता, पिज्जा खाने में बहुत मस्त लगते हैं पर पोषक तत्व नदारद होते हैं जो सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं। अगर खाएं भी तो खूब सारी ताजी सब्जियां डालकर। चीज का प्रयोग कम से कम कर कभी कभी खाएं।

आइसक्रीम, कुल्फी:-
वैसे तो आइसक्रीम, कुल्फी दूध, चीनी और क्रीम के मिश्रण से तैयार की जाती हैं। फुल क्रीम, दूध चीनी और क्रीम होने के कारण मोटापा बढ़ता है। कभी-कभी कम मात्रा में इसका सेवन किया जा सकता है।

बिरयानी:-
चावल शरीर में स्टार्च की मात्रा का बैलेंस बनाता है पर अधिक तेल में चावल पकाए जाएं तो यह चावल से बनी बिरयानी नुकसान पहुंचाती है अगर इसे कम तेल के साथ कई सब्जियां डालकर पकाया जाए तो यह हैल्दी होती है।

चाॅकलेट्स:-
थोड़े चाॅकलेट का सेवन शोधकर्ताओं के अनुसार दिल के लिए अच्छा है। अधिक चाॅकलेट सेहत को नुकसान पहुंचाता है। डार्क चाॅकलेट में मैग्नीशियम अधिक होता है, जिससे डिप्रेशन होने का खतरा बढ़ जाता है।

कैसे पाएं कंट्रोल:-
जंक फूड पर पूरी तरह नियंत्रण तो मुश्किल है पर असंभव नहीं। अगर जंक फूड और न्यूट्रिशयस फूड में आप्शन है तो जंक फूड के पास जाएं ही नहीं।

  • बेकरी प्राडक्ट्स, बिस्कुट, केक, पेस्ट्री का सेवन कम से कम करें इनमें चीनी की मात्रा बहुत अधिक होती है।
  • खाने में सलाद का प्रयोग अधिक करें।
  • नमक में राॅक साल्ट का प्रयोग करें। अलग से नमक, सलाद, फ्रूट पर न डालें। न ही अचार, पापड़ का सेवन करें।
  • खाने के बाद मीठा खाने का मन हो तो मिठाई या चाॅकलेट के स्थान पर केला, सेब लें या गुड़ का बिलकुल छोटा टुकड़ा मुंह में टाफी की तरह रखकर चूसें।
  • नमकीन खाने का मन करे तो फ्राइड नमकीन के स्थान पर रोस्टेड नमकीन में भुने चने डालकर खाएं।
  • साॅफ्ट ड्रिंक का मन करे तो नींबू पानी में हल्का नमक या शहद मिला लें या पतली छाछ का सेवन करें।
  • चाॅकलेट खाने का मन हो तो एक छोटा पीस ले।
  • फ्राइड पदार्थों के स्थान पर नट्स व स्प्राउट्स सीड्स का सेवन करें।