मोटापा - कुछ भ्रांतियाँ
August 28, 2019 • डॉ.कमल गुरनानी

मीडिया की कृपा से लोगों मंे यह जागरूकता तो आई है कि शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए वजन नियंत्रण करना जरूरी है। जो लोग मोटे हैं, लगातार पतले होने का प्रयास भी करते रहते हैं पर कई गलतफहमियों के कारण वे कुछ गलत स्टेप्स भी ले लेते हैं ताकि वजन जल्दी कम हो। आइये देखें क्या हैं ये भ्रांतियां।

सर्दियों मंे वजन बढ़ता है:-

ऐसा नहीं है कि गर्मियों में वजन नहीं बढ़ता और सर्दियों में ही बढ़ता है। सर्दियों में शरीर को गर्म रखने के लिए हमारा शरीर ज्यादा कैलोरी खर्च करता है और हमारा आहार बढ़ जाता है। अगर आप महसूस करते हैं कि आप सर्दियों में मोटे हो रहे हैं तो इसका कारण हाई कैलोरी डाइट,ज्यादा मीठे का सेवन और पर्याप्त व्यायाम न करना है।

हाई प्रोटीन और कार्बोहाइडेªटस का सेवन कम करना:-

हमारे देश मंे इस प्रकार की थ्योरी ज्यादा काम नहीं करती क्योंकि हम भोजन में दाल,चावल,रोटी,सब्जी का सेवन करते हैं जिसमें प्रोटीन, कार्बोहाइडेªट और फाइबर संतुलित मात्रा में होते हैं जो शरीर में ठीक संतुलन बनाए रखते हैं। हाई प्रोटीन डाइट और लो कार्ब डाइट उन लोगों के लिए लाभप्रद हंै जो रूटीन मेें पिज्जा, ब्रेड, पास्ता, केक, पेस्ट्रीज का सेवन करते हैं। ऐसे आहार के सेवन से कार्बोहाइडेªट और प्रोटीन की मात्रा में शरीर संतुलन नहीं बना पाता। इसलिए  हमारे देश में एटकिंस डाइट ज्यादा सफल नहीं है। 

हाई प्रोटीन और लो कार्ब डाइट से हमारे शरीर के हैप्पी हार्मोन्स शीघ्रता से घटते हैं और हम डिप्रेशन, चिड़चिड़ेपन के शिकार हो सकते हैं। ऐसे कार्बोहाइडेªटस को डाइट मंे शामिल करें जिनमें ग्लाइसीमिक इंडेक्स कम हो और शरीर का एनर्जी देर तक मिल सके जैसे चोकरयुक्त आटा, ब्राउन राइस, रागी,ज्वार आदि।

पार्टी में जाने से पहले पेट को भूखा रखना चाहिए:-

यह गलत है। किसी भी पार्टी में जाने से पहले अगर आप ज्यादा समय भूखे रहते हैं तो आप वहां भूख से ज्यादा खाते हैं। ज्यादा समय तक कुछ न खाने से शरीर में फैट्स इकट्ठे होने लगते हैं और मेटाबालिज्म धीरे हो जाता है। बेहतर है कैलोरी को संतुलित करें। सीमित खाएं। फ्राइड स्नैक्स के स्थान पर ताजे फल,सलाद खाएं, चबा चबा कर खाएं, पानी खूब पिएं। 

प्रातः का नाश्ता भारी और रात का खाना हल्का करें:-

भारी नाश्ते का अर्थ यह नहीं कि खूब सारे पूरी, परांठे खाएं। नाश्ता ऐसा करें जो आपको दिन भर एनर्जी दे। चाहे तो उसे दो भागों में भी बांट सकते हैं जैसे अगर आप जिम जाते हैं तो 1 कप चाय के साथ थोड़े से सूखे मेवे या कोई फल खाकर जाएं और आफिस जाने से पूर्व दूध के साथ कार्नफ्लेक्स या ओट्स , दलिया,परांठा, उपमा,पोहे में से कोई एक चीज खा सकते हैं। इससे पेट भी भ्ंारा रहेगा और ऊर्जा भी शरीर में बनी रहेगी। नाश्ते और दोपहर के भोजन में सब्जियों का सलाद खाएं। 

दिन में चोकरयुक्त चपाती या चावल,सब्जी, दाल आदि लें। इसी पकार रात्रि में जो लोग 10 से 11 बजे तक सो जाते हैं, उन्हें रात्रि का भोजन सुपाच्य और 7 से 8 बजे तक कर लेना चाहिए। जो लोग रात्रि शिफ्ट में काम करते हैं उन्हें पेट भर खाना खाना चाहिए ताकि काम करने की ऊर्जा बनी रहे। 3-4  घंटे बाद फल,उबला अंडा,वेजिटेबल सैंडविच में से कुछ एक अवश्य खाएं। रात्रि के भोजन में भी फाइबर वाले खाद्य पदार्थों को स्थान दें जैसे हरी सब्जी,सलाद आदि। रात्रि में कार्बोहाइडेªट का सेवन कम करें।

ज्यादा मीठे फलों का सेवन करना ठीक नहीं:-

जो लोग अपने वजन पर नियंत्रण कर रहे हैं चे अपनी प्लेट में बिना सोचे समझे केला,चीकू, आम ,अंगूर जैसे फलों को स्थान ही नहीं देते जो ठीक नहीं है। मौसमी फल अवश्य सीमित मात्रा में ंखाएं क्योंकि उनमें जो पौष्टिक तत्व होते हैं वे हमारे शरीर को मिलते हैं। जिम जाने वाले लोगों को केले का सेवन ऊर्जा प्रदान करता है। आज विटामिन ए से भरपूर होता है जो आंखों की रोशनी के लिए अच्छा होता है पर सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करें। चीकू में काॅपर,पोटेशियम, आयरन और विटामिंस होते हैं, साथ ही फाइबर भी काफी होता है। सीमित मात्रा में चीकू का सेवन भी करें।

कैलोरी ज्यादा बर्न करना चाहते हैं तो व्यायाम भी ज्यादा करें:-

350 कैलोरी को बर्न करने के लिए 20 मिनट तक टेªडमिल पर चलना होता है। अगर किसी दिन आप अपनी नियमित डाइट से ज्यादा खाते हैं तो उसे भी बर्न करने की जरूरत होती है। इसका अर्थ आपको ज्यादा व्यायाम की जरूरत होती है पर ऐसा करना आपके शरीर को नुकसान पहंुचा सकता है क्योंकि जरूरत से ज्यादा व्यायाम जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में खिंचाव की समस्या को बढ़ा सकता है।