ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
मेहनत करें तो सफलता जीवन में जरूर मिलती है : श्वेता मेकअप आर्टिस्ट
March 15, 2019 • Tarun Kumar Nimesh


इस मनमौजी दुनिया में बहुत से ऐसे लोग हैं जो जिंदगी के इस कठिन सफर को अकेले रहकर जी रहे हैं संघर्ष कर रहे हैं खुद को अपनी पहचान दिला रहे हैं। मेकअप इण्डस्ट्री में बहुत ही तेजी से उभरती एक ऐसी ही आर्टिस्ट हैं श्वेता अग्रवाल मेकअप आर्टिस्ट जोकि आज एक नामी गिरामी मेकअप आर्टिस्ट हैं। उनकी इस सफलता के बारे में जानने के लिए आपकी सेहत पत्रिका के संपादक तरूण कुमार निमेष से हुई बातचीत के प्रस्तुत हैं कुछ प्रमुख अंश :-

श्वेता अग्रवाल जी सबसे पहले आपसे हमारा सवाल है कि आपने अपने कैरियर की शुरूआत कहां से की?
जब मैं सिर्फ 15 साल की थी तभी मैंने अपना पहला डिप्लोमा कोर्स किया था, ये मेरा शौक भी था और पैशन भी, धीरे-धीरे मैंने अपनी नॉलेज मेकअप लाइन में बढ़ाते हुए, अपने शौक को ही अपना कैरियर बना लिया जिसमें आज मैं सफल हूँ।


श्वेता अग्रवाल जी आपने जिदंगी के किस मोड़ पर अपने जीवन का लक्ष्य निर्धारण किया?
मेरे जीवन में बहुत उतार-चढ़ाव रहे हैं कुछ समय पहले मैंने ये तय किया कि जीवन में जो लिखा है वो तो होगा ही तो इसे हंसकर अपनाओ, जो भी अच्छा लगे उसे करो और खुश रहो। बुरा वक्त कुछ समय में बदल ही जायेगा और ये सोचकर ही मैंने कैरियर की शुरूआत पूरे जोश और मेहनत के साथ की।


आपकी सफलता और आज आप जिस मुकाम पर हैं उसने पाने के लिए आपने क्या किया और उसमें मुख्य भूमिका किसकी रही?
मेरी सफलता में सबसे बड़ा योगदान मेरे घरवालों  का रहा जिसमें मेरी मम्मा को सबसे ऊपर रखना चाहूँगी क्योंकि उन्होंने मुझे हर पल, हर मोड़ पर उत्साहित किया, आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। मेरी पहली जिम्मेदारी मेरी बेटी है जिसकी देखभाल व देखरेख मेरी माता ने ही की, जिसकी वजह से मैं अपने कैरियर में आगे बढ़ पायी।


श्वेता जी आज आप जिस भी मुकाम पर हैं और आज लोग आपको जानते हैं यह देखकर आपको कैसा महसूस होता है?
आज जब भी मैं कहीं बाहर जाती हूँ और लोग मुझे श्वेता मेकअप आर्टिस्ट के रूप में जानते पहचानते हैं तो मुझे सुनकर व जानकर बहुत ही अच्छा महसूस होता है। और इस बात पर विश्वास बढ़ता है मेहनत करें तो सफलता जीवन में जरूर मिलती है साथ ही एक अलग तरह का मोटिवेशन भी मिलता है जीवन में निरंतर आगे बढ़ने के लिए।


श्वेता जी मेहनत करने के बाद भी आज जीवन में आपका कोई सपना अधूरा है?
निश्चित रूप से मुझे मेहनत का फल मिला है परन्तु ये सफलता की सीढ़ियाँ हैं ही इतनी ज्यादा की खत्म होने का नाम ही नहीं लेती हैं, मेरा सपना अधूरा नहीं है जो भी मिला है उससे बहुत खुश हूँ मगर आगे बढ़ने की इच्छा को कभी मरने नहीं देना चाहती हूँ।


आपको आपके परिवार से सबसे ज्यादा सपोर्ट और सहयोग किनसे मिला?
मैं एक सिंगल पैरेंट हूँ और सपोर्ट के बिना शायद  मैं कुछ नहीं कर पाती, मेरे मम्मी और पापा दोनों ने ही मुझे बहुत सपोर्ट किया और सही मायने में ही मेरी मम्मी ने ही मेरी बेटी का ध्यान रखकर मुझे सपोर्ट किया।


श्वेता जी आपकी लाइफ का सबसे कीमती वो पल जो आप पाठकों को बताना चाहेंगी?
मेरी लाइफ का बेस्ट मूमेंट वो पल रहा जब मेरी बेटी ने मुझे मोम, बेस्ट मोम आॅफ द वर्ल्ड का नाम से सुशोभित किया। ये मेरे जीवन का सबसे बड़ा अचीवमेंट था। मैं मेरी बेटी के लिए बेस्ट मोम आॅफ द वर्ल्ड और बेस्ट मेकअप आर्टिस्ट बनी।


आप एक बेस्ट मेकअप आर्टिस्ट हैं और अपने जीवन किन मेकअप आर्टिस्टों की तरह बनना चाहती हैं।
मेकअप इण्डस्ट्री के ऐसे दो नाम हैं जिनसे मैं बहुत ही पे्ररित हूँ और उनको फोलो करती हूँ। केनेडी आॅफमैन एण्ड अनुराग सर फरोम गुरूकुल को देखकर मुझे प्रोत्साहन मिलता है और कहीं ना कहीं मैं जीवन में उनके जैसा बनना चाहती हूँ।


श्वेता जी अपने जीवन का बेस्ट अनुभव हमारे पाठकों के साथ शेयर करें।
मैं कहूंगी कि बहुत सारे ऐसे अनुभव हैं जिनको मैं शेयर करना चाहूंगी बल्कि अनुभव एक नहीं अनेक हैं और हर दिन नया अनुभव करती हूँ और सच बोलूं अलग-अलग लोगों से मिलकर नया अनुभव होता है। सीखने को मिलता है जिंदगी के बारे में। तो हर दिन हर काम मेरे लिए नया अनुभव लाता है।


आप आने वाली पीढ़ी को कोई ऐसा संदेश देना चाहेंगी जिनसे वे प्रेरित हो सकें।
आने वाली पीढ़ी से सिर्फ मैं ये कहना चाहूंगी कि स्टे फोकस, कीप वर्क एण्ड कम्पोज। हमारे आज कल के बच्चों में टैलेंट की भरमार है वर्तमान पीढ़ी से भी ज्यादा, परन्तु उन्हें आवश्यकता है फोकस रहने की, वर्कएवं कम्पोज रहने की, यही बातें उन्हें जीवन में बहुत आगे ले जा सकती हैं बहुत सक्सैस बना सकती हैं।