ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
दूध कितना जरूरी है शारीरिक विकास के लिए
December 6, 2018 • Tarun Kumar Nimesh

दूध कितना जरूरी है

शारीरिक विकास के लिए

दूध एक ऐसा पेय है जिसे हर उम्र वाला पी सकता है क्योंकि इसमें मौजूद कैल्शियम आौर विटामिंस शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। शायद इसीलिए मांएं बचपन से ही बच्चों को दूध पीने के लिए जिद्द करती हैं ताकि बच्चों का शारीरिक विकास ढंग से हो सके और उनके दांत, हड्डियां मजबूत बनी रहें। बच्चों और बड़ों दोनों को दूध से पौष्टिक तत्व मिलते हैं। तभी इसे कंपलीट फूड भी माना गया है।

कैल्शियम का अच्छा óोत है दूध:-
दूध में कैल्शियम की मात्रा होती है हर 100 ग्राम दूध में 280 से 300 मिग्रा कैल्शियम पाया जाता है। अगर हम बचपन से नियमित दूध पिएं तो हमारेे शरीर में कैल्शियम की मात्रा प्राकृतिक रूप से जाती रहेगी जो हड्डियों और दांतों की मजबूती के लिए जरूरी है।

दूध अपने आप में पूर्ण आहार है:-
दूध में न्यूट्रिएंटस की मात्रा काफी होती है जैसे प्रोटीन, विटामिन ए,बी12, कैल्शियम, फास्फोरस, जिंक, मैग्नीशियम और पोटेशियम आदि। काफी पौष्टिक तत्वों से भरपूर दूध को पूर्ण आहार माना जाता है। दूध के अतिरिक्त भंी हमें ऐसे खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करना चाहिए जिनमें विटामिन सी और आयरन भी हो, तभी हमारी डाइट संतुलित होगी।

नाश्ते में पिएं दूध:-
दूध में काफी सारे पौष्टिक तत्व होने के कारण नाश्ते में इसका सेवन अच्छा होता हे। खाली दूध न लें। इसके साथ दलिया, ओट्स, सीरियल्स आदि लें ताकि आपका नाश्ता पौष्टिकता से भरपूर हो रात्रि के खाने और नाश्ते में 8से 10 घंटे का अंतराल होता है इसलिए नाश्ता पौष्टिकता से भरपूर होना चाहिए।

त्वचा के लिए दूध अच्छा है:-
नियमित दूध के सेवन से आपकी त्वचा में प्राकृतिक नमी बनी रहती है जिससे त्वचा खुश्क नहीं होती। कच्चे दूध को त्वचा पर भी लगाया जा सकता है और अन्य चीजों के साथ मिलाकर इससे उबटन तैयार किया जा सकता है जो त्वचा की रंगत साफ करने में मदद करता है। दूध लगाने से पूर्व उसे त्वचा , कोहनी के अंदर लगाकर कुछ समय के लिए छोड़ दें क्योंकि मिलावटी दूध त्वचा को नुकसान भी पहुंचा सकता है।

हड्डियों को मिलती है मजबूती:-
यह सच है कि दूध का नियमित सेवन हड्डियों को मजबूत बनाता है। बढ़ती उम्र में बच्चों को दिन में दो बार दूध दें। एक सर्वेक्षण के अनुसार कई देशों में बच्चों में हड्डियों कंी समस्या पाई गईं जिसकी वजह दूध का बहुत कम सेवन था।

सावधानियां:-
- पेट गड़बड़ होने पर डाक्टरी सलाह से दूध लें।
- एंटीबायोटिक के साथ भी डाक्टर से बिना पूछे दूध न लें।
- कई लोगोें को दूध से एलर्जी होती है। उन्हें दूध का सेवन नहीं करना चाहिए।