ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
ज्वेलरी की करें सही देखभाल
February 3, 2019 • Tarun Kumar Nimesh

आज के समय सोने के गहने खरीदना दिन प्रतिदिन महंगा होता जा रहा है। मिडिल क्लास और लोअर मिडिल क्लास तो बस सोना तभी खरीदती है जब बच्चों की शादी करनी हो, किसी बहुत नजदीकी को तोहफा देना हो या कुछ टूट गया हो तो उसमें कुछ पैसे मिलाकर नया बनवाना हो। आभूषण वैसे तो स्त्रीधन हैं और हर महिला की इच्छा होती है कि वे खूब सारे अपनी पसंद के जेवर बदल बदल कर पहनती रहें पर महंगाई और सुरक्षा को देखते हुए अब महिलाओं में इसका क्रेज कुछ कम हुआ है। महिलाएं अपना स्त्रीधन इसलिए संभाल सहेज कर रखती हैं कि आड़े समय उन्हें उसका सहारा बना रहे। महंगाई और सुरक्षा को देखते हुए उन्हें सहेज कर रखना बहुत ही जरूरी हो गया है।

ध्यान दें ज्वेलरी पहनते समय :- 

  • बाहर सफर पर जाते समय ज्वेलरी न तो साथ लेकर जाएं, न ज्यादा पहन कर जाएं। बस एक अंगूठी और छोटे कर्णफूल ही पहनें। चूड़ियां, चेन, हार, लंबे कर्णफूल, बालियां पहन कर न जाएं।
  • चेन पहनने से पहले उसके हुक पर ध्यान दें कि कहीं वह ढीला या घिसा हुआ तो नहीं है। इसी प्रकार कानों में पहनने वाले आभूषणों के पेच पर भी ध्यान दें कि वे सही बंद हो रहे हैं। अगर थोड़ी सी गड़बड़ी लगे तो उसे उतारकर संभाल दें।
  • जब भी कोई आभूषण पहनें तो आराम से बिस्तर पर बैठकर पहनें ताकि गिर कर खोने का खतरा न रहे।
  • कुछ महिलाएं समारोहों में बहुत अधिक आभूषण पहन लेती हैं चाहे वे उनकी ड्रेस के साथ मेल खाते हों या नहीं। अधिक आभूषण और बेमेल आभूषण व्यक्तित्व को निखारते नहीं बल्कि व्यक्तित्व को बिगाड़ते हैं। बस उतना ही पहनें जितना जरूरी और मेल खाता हो।
  • कभी भी ज्वेलरी नौकरों के सामने न बदलें, न संभालें, न ही निकालें। अपनी सुरक्षा हेतु इस बात पर विशेष ध्यान दें।

 आभूषण लॉकर में ही रखें :-

  • महंगे आभूषणों को घर पर रखना असुरक्षित हैै। अगर उन्हें लाॅकर में रखा जाए तो वे अधिक सुरक्षित रहेंगे। आभूषणों की सुरक्षा के साथ हम स्वयं भी सुरक्षित रहेंगे। घर पर दो तीन जोड़ी ईयररिंग्स, एक दो अंगूठी और हल्की चेन या छोटा हल्का मंगलसूत्र ही काफी है।
  • लाॅकर में आभूषण उनके स्वभाव अनुसार रखें। हीरे, सोने, मोती, स्टोन्स से बने आभूषण अलग-अलग पैकेट में रखें। सबको एक साथ मिलाकर रखने से उनकी चमक खराब हो सकती है। ईयररिंग्स, अंगूठी और चेन को भी एक साथ न रखें। आपस में उलझकर टूट सकते हैं और गिर भी सकते हैं। अलग थैलियों में रखें।
  • जब भी लाॅकर आपरेट करने जाएं तो बड़ा सफेद रूमाल लेकर जाएं ताकि कुछ भी गिरे तो आराम से ढंूढा जा सके।
  • लाॅकर बंद करते समय अच्छी तरह जांच लें कि कुछ बाहर तो नहीं छूटा और लाॅकर ठीक से बंद कर दिया है।
  • कभी भी आभूषण शहर से बाहर जाते समय न तो साथ ले जाएं, न किसी परिचित या नजदीकी रिश्तेदार के यहां रखें। लाॅकर में रखना ज्यादा बुद्धिमता है।

चमक व सफाई का भी ध्यान रखें :-

  • काॅस्मेटिक्स, परफ्यूम, डियो आदि सोने, चांदी, हीरे और नकली आभूषणों की चमक को खराब कर देते हंै। इनका प्रयोग बहुत सावधानीपूर्वक करें। साल में एक बार किसी प्रोफेशनल से इन्हें धुलवा लें ताकि चमक बनी रहे।
  • घर पर भी सोने के आभूषण साफ कर सकते हैं। पानी में अच्छी क्वालिटी का लिक्विड डिटरजेंट मिलाएं, आभूषण उसमें भिगोकर हल्के ब्रश से उसे रगड़ लें, फिर साफ पानी से धोकर नर्म कपड़े से सूखा कर वेलवेट के कपड़ों में या फलालेन की थैलियों में संभाल कर रखें।
  • कलर्ड गोल्ड की सफाई बहुत मुश्किल है। कुछ समय उपरांत इनकी चमक खराब हो जाती है। इन्हें न ही खरीदें तो अच्छा है।