ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
खड़े होकर पानी पीने से होती हैं बीमारियां
December 16, 2018 • Rajesh

खड़े होकर पानी पीने से होती हैं बीमारियां

अक्सर देखने में आता है कि ज्यादातर लोगों की आदत होती है कि वे घर में घुसते ही गिलास या फिर जग उठाकर या फ्रिज से बोतल निकालकर एक ही घूंट में गटागट पानी पीने लग जाते हैं लेकिन क्या आपको मालूम है कि यह आदत आपकी सेहत पर बहुत भारी पड़ सकती है। बेशक यूं तो पानी पीने से शरीर को ढेरों फायदे होते हैं। इससे न केवल हमारी प्यास बुझती है अपितु कईं प्रकार की बीमारियाँ भी पास नहीं फटकती हैं परंतु कई नामचीन डाक्टर्स बताते हंै कि बैठ कर पानी पीने में और खड़े होकर पानी पीने में अर्श और फर्श का अंतर होता है।
जहां एक तरफ बैठ कर पानी पीने से हमारी सेहत अच्छी बनी रहती है। वहीं अन्य दूसरी ओर खड़े होकर पानी पीने से हमारी अच्छी खासी बनी बनाई सेहत भी बिगड़ जाती है। आज के इस सेहत संबंधी लेख में हम आपको खड़े होकर पानी पीने के नुकसान के बारे में अवगत करायेंगे जिन्हें अमल में लाते हुए आप भी फर्श पर भली-भांति बैठकर पानी पीने पर विवश हो जायेंगे।तो आइये अब हम सभी जानते हंै कि खड़े होकर पानी पीने से हमारे शरीर को क्या भयंकर परिणाम भुगतने पड़ सकते हंै।


खड़े होकर पानी पीने से शरीर को होने वाली हानियां:-

प्यास बुझाने में नाकामयाब रहे:-
अधिकांश डाक्टर मानते हैं कि खड़े होकर पानी पीने का सबसे बड़ा और मुख्य नुकसान खुद को प्यासा रखना होता है क्योंकि इस तरह व्यक्ति की प्यास पूर्णतया नहीं बुझ पाती और व्यक्ति ढेर सारा पानी पीने के बाद भी स्वयं को प्यासा ही महसूस करता है।

किडनी को पहुंचाए हानि:-
आहार विशेषज्ञों की राय में, खड़े होकर पानी पीना किडनी के लिए नुकसानदायक होता है क्योंकि ऐसा करने से पानी बिना छने ही किडनी से बाहर निकलने लगता है जिसकी वजह से किडनी में कई प्रकार की बीमारियां घर करने लग जाती है। परिणामस्वरूप, किडनी के खराब होने एवं किडनी फेल होने का खतरा दोगुना हो जाता है।

दिल को रखें अस्वस्थः-
यदि हम अक्सर खड़े होकर पानी पीते हैं तो इसका सबसे बड़ा खमियाजा हमारे दिल को भी बीमार होकर भुगतना पड़ता है। ऐसा करने से जहां पानी खाने को सही तरह से डाइजेस्ट करने में मदद नहीं कर पाता है वहीं दूसरी तरफ खाना ठीक तरह से न पचने के कारण शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा बढ़ने लगती है जिससे आगे चलकर हार्ट अटैक होने की आशंका काफी बढ़ जाती है।

जोड़ों में दर्द पैदा करे:-
खड़े होकर पानी पीने से शरीर के अन्य तरल पदार्थों का संतुलन बिगड़ जाता है जिसकी वजह से व्यक्ति के जोड़ों में दर्द और गठिया जैसी परेशानियां उत्पन्न होती हैं।

पाचन तंत्र करे खराबः-
जब आप बैठकर पानी पीते हैं तो आपकी मांसपेशियों के साथ आपका नर्वस सिस्टम भी आराम से काम करता है। इस दौरान आपका नर्वस सिस्टम आपके दिमाग की नसों को तरल पदार्थ को तुरंत पचाने का संकेत देता है। वहीं अगर आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो आपका पाचन तंत्र सदैव खराब बना रहता है। इस तरह अनेक तरह की बीमारियां होती हैं।

अपचन की समस्याः-
पुराने लोगों की बात मानें तो बैठ कर पानी पीने से खाना सही प्रकार से पच जाता है. जबकि इसके विपरीत खड़े होकर पानी पीने के कारण खाना ठीक तरह से नहीं पच पाता और अपचन जैसी बीमारी की समस्या होने लगती है।

बनाएं कब्जः-
शहरों में कब्ज होना तो आम बात है किंतु गांवों में भी अब बहुत से लोगों को कब्ज जैसी परेशानियों से दो चार होना पड़ता है। इस कब्ज का सबसे बड़ा कारण खाना ठीक तरह से न पचना होना है। खड़े रहकर पानी पीने से खाना कभी भी पच नहीं पाता। फलस्वरूप कब्ज की शिकायत होने लगती है।

एसिडिटी पैदा करेंः-
खड़े रहकर पानी पीने से हमारे शरीर में जरूरत से ज्यादा एसिड बनने लगता है जो कि आगे चलकर एसिडिटी का कारण बनता है।