ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
आपका बाथरूम
January 26, 2019 • Vikas Kumar

कितना आकर्षक है आपका बाथरूम

घर में बाथरूम ही ऐसा स्थान है जहां इंसान को पूरी तरह से एकांत मिलता है। यदि वह साफ सुथरा हो तो आप एकांत समय का पूरा आनन्द उठा सकते हैं। बाथरूम एक ऐसा स्थान है जहां आप जितना भी समय बिताते हैं, वह केवल आपका ही होता है।

आइए नजर डालते हैं उन सुझावों पर जिससे आप अपना बाथरूम साफ सुथरा रख सकें।

  • यदि आपका बाथरूम छोटा हो तो अपने बारूथम में हल्के रंग का पंेट करवायें। इससे बाथरूम बड़ा लगेगा।
  • बाथरूम पुराना हो, उसके फर्श खराब हो गये हों और आप अभी अधिक पैसा खर्चने के मूड में नहीं है। तो पुराने फर्श पर विनायल फ्लोरिंग करा सकते हैं। इसमें पैसा भी कम लगेगा और फर्श देखने में भी अच्छा लगेगा।
  • अपने बाथरूम की दीवारों को और अच्छा लुक देना चाहते हों तो मोजेक टाइल्स लगवा सकते हैं।
  • बाथरूम बड़ा है तो इसकी दीवार पर एक पेंटिग लगा सकते हैं। बस ध्यान देना होगा कि उस पर शावर का पानी न जाये।
  • शावर का आप अधिक प्रयोग करते हैं तो बाथरूम में शावर कैप रखें ताकि हर बार शावर लेने के बाद बाल गीले न हों। बाथरूम में शावर कर्टेन भी लगाएं ताकि सारा बाथरूम गीला न हो।
  • जब कभी बाथरूम में बदबू आ रही हो तो रूम फ्रेशनर छिड़कें।

  • बाथरूम के अन्दर वाश बेसिन लगवाते समय पर बाथरूम स्पेस का ध्यान रखें और वाशबेसिन पर शीशा अवश्य लगायें। शीशे को साफ रखें। शीशा साफ रखने के लिए थोड़े से गर्म पानी में चार पांच बूंद नील मिलाकर साफ करें, प्रयोग की गई चाय की पत्ती से भी साफ कर सकते हैं।
  • वाशबेसिन को साफ करने के लिये उस पर नींबू रगड़ें। वाशबेसिन साफ हो जाएगा। यदि वाशबेसिन या सिंक के होल बंद हो गए हों तो दो चम्मच खाने के सोडे में दो चम्मच सिरका मिलाकर रात भर के लिए छोड़ दें। सुबह अच्छी तरह धोने से सारे होल खुल जायेंगे। स्टील सिंक को साफ करने के लिए खाने वाले सोडे से साफ करें।
  • वाशबेसिन के ऊपर दीवार पर बड़ा शीशा फ्रेम में लगवायें।
  • बाथरूम में बाथ टब हो तो इसे भरते समय छोटे बच्चों को दूर रखें। बाथटब में पहले ठंडा पानी भरें, फिर गर्म पानी भरें। नहाने के लिए जिस तापमान वाला पानी चाहिए, उतना ही रखें।
  • बाथरूम में पानी निष्कासन पाइप को जाली से ढककर रखें ताकि कीटाणु कम पनपें।
  • यदि आप म्यूजिक के शौकीन हैं तो बाथरूम में म्यूजिक सिस्टम का भी प्रबन्ध रखें।
  • परिवार में सभी सदस्यों को आदत डालें कि नहाने के बाद बाल्टी, मग, बैठने वाला पटरा उचित स्थान पर रखें।
  • नहाने के बाद बाथरूम को वाइपर की सहायता से सुखायें ताकि फर्श पर कोई फिसलें नहीं।
  • बाथरूम में यदि कैबिनेट है तो उसकी नियमित सफाई रखें।
  • बाथरूम को सूखा रखें क्योंकि नमी वाले स्थान पर कीटाणु शीघ्र पनपते हैं।
  • दीवारों की टाइल्स भी समय समय पर साफ करते रहें।
  • बाथरूम में फ्रेश फ्लावर रखें ताकि बारूथम में महक बनी रहे।
  • टावल राॅड पर तौलिया फैला कर रखें ताकि गीले तौलिए में बदबू न आए और राॅड पर फैला तौलिया सूख जाए।
  • वाशबेसिन पर रखी साबुन दानी में रखे साबुन से साबुनदानी गंदी हो जाती है। इसे पुराने टुथ ब्रश से साफ करें या साबुन के निचले भाग पर कोल्ड ड्रिंक की बोतल का ढक्कन रख दें या फिर एल्यूमीनियम फायल की तीन चार लेअर बना कर रखें ताकि वो साबुनदानी से थोड़ा ऊंचा रहे।
  • बाथरूम में बाल्टी व टब को उल्टा कर रखें ताकि नीचे पड़े पानी में मच्छर न पनपने पायें।
    क बाथरूम के बाहर पैरपोश अवश्य रखें ताकि गीले पांवों से बाकी फर्श गीला न हो।