ALL HEALTH BEAUTY INTERVIEW
अपनी माँ को प्रेरणा का स्रोत मानती हैं शैलजा सूरी
August 28, 2019 • तरूण कुमार

आज जहां हर क्षेत्र में प्रतियोगिता दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं वहीं कुछ लोग इन सभी बातों को नकारते हुऐ भी अपने जीवन को सादे तरीके से जीकर भी सफलता की सीढ़ियों पर दिन प्रतिदिन ऊंचाईयों की ओर चढ़ते चले जा रहे हैं ऐसी ही शख्सियत हैं शैलजा सूरी जी।

इन्होंने अपने अपने करियर की शुरूआत की 2003,  सिकंदराबाद में, जब मैंने पहली बार मिसेस कैटवॉक आर.एस.आई और मिसेज सिकंदराबाद क्लब 2003 का खिताब जीता। तब इन्होंनें कभी नहीं सोचा था कि मैं इतने बड़े इंटरनेशनल ब्यूटी पेजेंट की फाइनलिस्ट बन जायेंगी,  लेकिन आज एक फाइनलिस्ट बनने के बाद ये अपने आपको बहुत खुशकिस्मत समझ रही हैं। शैलजा सूरी ने अपनी शिक्षा देश के लगभग हर स्टेट में की है क्योंकि इनके पिताजी आर्मी में थे और बचपन से ही इन्होंने प्रत्येक 2 साल बाद एक नया स्टेट देखा है।  इनका सबसे ज्यादा समय, 5 साल बड़ौदा में बता, जहां इन्होंने ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की है, इंग्लिश आॅनर्स और कैनेडियन लिटरेचर में मास्टर्स किया है।

अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को देती हैं, जिन्होंने बचपन से इन्हें एक खुली विचारधारा में पाला पोसा,  बड़ा किया और इन्हें इस काबिल बनाया कि ये जिंंदगी में बड़े-बड़े चैलेंज उठा सकें।  ये अपने इनलॉज और हसबैंड को भी अपनी सफलता का श्रेय देती हैं क्योंकि इन्होंने जो भी अभी तक पाया है, जितनी भी सफलता हासिल की है, काफी हद तक अपनी शादी के बाद ही की है। ये अपने पति को धन्यवाद देते हुए कहती हैं कि वो मेरे सपनों में विश्वास रखते हैं, तभी मैं भी उन्हें पूरा करने की हर तरह से कोशिश करती हूं। इन्होंने 2003 में मैसेज कैटवॉक आर.एस.आई और मैसेज सिकंदराबाद क्लब जीता,  जिसकी वजह से इनके पास काफी मॉडलिंग के आॅफर आने लगे और यहीं से इन्होंने अपना करियर कंटिन्यू किया। सबसे बड़ा ब्यूटी पेजेंट जिसमें इन्होंने हिस्सा लिया है वह है हॉट मोंड मिसेज इंडिया वर्ल्ड वाइड 2019 जिसकी ये फाइनलिस्ट बनी और उसे जीतने की पूरी तैयारी है।

शैलजा जी अपने जीवन का रोल मॉडल अपनी माता जी को ही मानती हैं क्योंकि इन्होंने अपनी माँ को बहुत नजदीकी से देखा है, अपनी माता की बहुत सारी खूबियों को ये अपने अन्दर देखना चाहती हैं। इनकी माता जी प्रगतिशील, धैर्यवान और पढ़ी-लिखी महिला होने के साथ-साथ निष्पक्ष और बहुत ही दयालु हैं। इन्हें लगता है कि कि एक कंप्लीट वूमेन में यह सारी खूबियां होनी ही चाहिए।  इनकी पूरी कोशिश रहती है कि ये अपनी माता जैसी बनें।  ये अमिताभ बच्चन की बहुत बड़ी फैन हैं। इनका कहना है कि उनका कोई भी फिल्मी बैकग्राउंड नहीं था। आज उन्होंने जो भी मुकाम हासिल किया है वह अपनी मेहनत के बलबूते पर हासिल किया है। उनकी मीडिया और लोगों के बीच में जो छवि है वह बहुत ही ऊंची और साफ-सुथरी है। उनकी अपनी भाषा पर जो पकड़ है और साथ ही स्क्रीन पर उनकी जो आभा है उसी वजह से शैलजा जी उन्हें बहुत पसंद करती हैं। आयोजित हॉट मांड मिस इंडिया वर्ल्ड वाइड 2019 के फाउंडर और चेयरमैन हैं मिस्टर भरत के भरमार हैं जिसमें इन्होंने पार्टिसिपेट किया है यह सीजन 9 है।

यह एक एनुअल ब्यूटी पेजेंट है जिसके 8 सीजन अभी तक हो चुके हैं। पिछले साल ही यह अंतरराष्ट्रीय ब्यूटी पेजेंट बना और इसका फिनाले ग्रीस में हुआ था। इस साल भी हम अक्टूबर में फिनाले के लिए ग्रीस ही जा रहे हैं । ये अपने आपको मेंटेन रखने के लिए तीन सिंपल चीजों का ध्यान रखती हैं - सबसे पहला स्वस्थ खाना क्योंकि इनका मानना है कि 'जैसा होगा तन वैसा बनेगा मन', घर का खाना सबसे स्वस्थ होता है।  दूसरा है व्यायाम,  किसी भी प्रकार का व्यायाम चाहे वह कार्डियो हो या फिर योगा, शरीर को अच्छी शेप में रखने के लिए आवश्यक है। इससे शरीर डीटॉक्सिफाई भी होता है। तीसरा और सबसे महत्वपूर्ण है मेडिटेशन जिससे पूरे शरीर का बैलेंस बना रहता है।

जो महिलायें घरों तक ही सीमिति हैं उनके बारे में ये कहती हैं कि हम चाहे समाज के किसी भी वर्ग से हो हमें यह देखना चाहिए कि हम किसी तरह से अपनी विचारधारा को प्रगतिशील और अग्रसर बनाएं और यह तभी संभव हो पाएगा जब हम पढ़े लिखे होंगे। सरकार ने महिलाओं  को पढ़ाने और विकसित बनाने के लिए प्रौढ़ शिक्षा केंद्र खोले हैं। तो यदि आप एक महिला हैं और अशिक्षित हैं तो आप प्रौढ़ शिक्षा केंद्र जाइए, अपने आप को शिक्षित और विकसित कीजिए।  आपके बच्चे हैं और पढ़े लिखे नहीं हैं तो उनको निशुल्क शिक्षा केंद्र भेजिए क्योंकि जब तक हमारी सोच विकसित नहीं होगी तब तक हम अपने जीवन में बदलाव नहीं ला सकते।